Join Our Telegram Group Join Now
Join Our WhatsApp Group Join Now
Mandi Bhav

Wheat Price Today: गेंहू के भाव छू रहें हैं आसमान, सरकार ने जारी किये नए दिशानिर्देश

wheat price today

Wheat Price Today: गेंहू के भाव छू रहें हैं आसमान, सरकार ने जारी किये नए दिशानिर्देश गेहूं की बढ़ती कीमतों से चिंतित होने पर सरकार ने निर्यात पर प्रतिबंध लगाने से इनकार किया है और इसके बजाय स्टॉक रखने की सीमा निर्धारित की गई है।

wheat price today

गेहूं और आटे की महंगाई के बाद सरकार ने कार्रवाई की है। इसका मकसद है कि गेहूं की कीमतों को नियंत्रित किया जाए और उपलब्धता बढ़ाई जाए। केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की है ताकि इस मुद्दे पर सहयोग किया जा सके। खाद्य सचिव संजीव चोपड़ा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्यों के खाद्य सचिवों के साथ बैठक की है जिसमें गेहूं की स्टॉक लिमिट के पालन के लिए कठोरता से बातचीत की गई है।

PAN Card Address Update: आधार कार्ड के जरिये बदल सकते हैं पैन कार्ड में एड्रेस, जानें पूरी प्रक्रिया

इस बैठक में केंद्र सरकार ने राज्यों से होलसेलर्स, रिटेलर्स, ट्रेडर्स, बड़े चेन रिटेलर्स और प्रोसेसर्स से गेहूं के स्टॉक की विस्तृत जानकारी मांगी है। जिससे जमाखोरी को रोका जा सके और गेहूं की वास्तविक उपलब्धता का पता लगाया जा सके। इसके लिए स्टॉकिस्टों को (https://evegoils.nic.in/wsp/login) पर स्टॉक डेटा साझा करने के लिए कहा गया है। अगर इन स्टॉकिस्टों के पास निर्धारित सीमा से अधिक गेहूं है, तो उन्हें 30 दिनों के अंदर नोटिफिकेशन प्राप्त होने पर सीमा के भीतर स्टॉक को लाना आवश्यक होगा.

Sarso Mandi Rate: सरसों के भाव में जबरदस्त उछाल, कीमत 7000 रूपए के पार

बैठक के दौरान सरकार ने राज्य सरकारों के साथ ओपन मार्केट सेल स्कीम (OMSS) के माध्यम से घरेलू बाजार में गेहूं और चावल की बिक्री के फैसले की जानकारी दी। इस पहले चरण में, 15 लाख मिट्रिक टन गेहूं को खुले बाजार में बेचा जाएगा। इससे घरेलू बाजार में गेहूं और चावल के दामों को नियंत्रित किया जा सकेगा। सरकार की प्रयास है कि लोगों को सस्ते दामों पर गेहूं और चावल उपलब्ध कराए जाएं।

केंद्र सरकार ने सोमवार को ही गेहूं की बढ़ती कीमतों और उसके होर्डिंग और जमाखोरी पर रोक लगाने के मकसद से होलसेलर्स, रिटेलर्स, ट्रेडर्स, बड़े चेन रिटेलर्स और प्रोसेसर्स के लिए स्टॉक रखने की सीमा तय की है। सरकार ने ओपन मार्केट सेल स्कीम (OMSS) के माध्यम से घरेली मार्केट में गेहूं और चावल की बिक्री का फैसला किया है, जिससे घरेलू बाजार में बढ़ती कीमतों पर नियंत्रण लागू किया जा सके।

About the author

Raghuveer Singh

Leave a Comment